कैरियर विकल्प 12 वीं वाणिज्य के बाद के कोर्सेज

कैरियर विकल्प – 12 वीं वाणिज्य के बाद के पाठ्यक्रम

कॉमर्स या वाणिज्य के साथ 12 वीं पास करने पर कई पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं और इनमे से किसी एक को स्वयं की रुची के अनुसार चुनना चाहिए। वाणिज्य (Commerce) में 12 वीं पास करने के पश्चात प्रचलित मुख्य पाठ्यक्रम हैं-

बैचलर ऑफ कॉमर्स (बीकॉम)(B Com)

बैचलर ऑफ कॉमर्स 3 साल की स्नातक डिग्री है। सभी निजी और सरकारी महाविद्यालय इस कार्यक्रम को चलाते हैं। बीकॉम के पूरा होने के बाद वाणिज्य में स्नातकोत्तर डिग्री (एम कॉम) और एमबीए कर सकते हैं। बीकॉम के बाद विभिन्न डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी उपलब्ध हैं। बीकॉम के बाद एकाउंट्स , फाइनेंस, टैक्सेशन, सेल्स और बैंक में नौकरी भी कर सकते हैं।

बैचलर ऑफ बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए)(BBA)

इस कोर्स की अवधि 3 साल है। इस पाठ्यक्रम के तहत छात्रों को प्रबंधकीय कौशल सिखाया जाता है। इस पाठ्यक्रम को पूरा करने के बाद प्रबंधन में मास्टर डिग्री कर सकते हैं। इस डिग्री के बाद निजी और सार्वजनिक क्षेत्र में नौकरियां भी उपलब्ध हैं।

अर्थशास्त्र में स्नातक (BA Economics)

यह निजी और सरकारी कॉलेजों द्वारा संचालित 3 साल का डिग्री कार्यक्रम है। अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के बाद स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की जा सकती है।

5 साल का इंटीग्रेटेड लॉ (Integrated Law)

कानून की पढाई के लिए (एलएलबी) कोर्स स्नातक डिग्री के बाद होता हैं । बारहवी के बाद भी कई विश्वविद्यालय 5 साल के सामान्य स्नातक और एलएलबी जैसे बी कॉम और कानून, बीए और कानून आदि की एकीकृत पाठ्यक्रम चला रहे हैं। इस 5 साल के कोर्स में स्नातक और कानून दोनों की पढाई करनी होती है। यह कोर्स पूरा करने बाद लीगल लाइन में नौकरी एवं वकालात की प्रैक्टिस की जा सकती है|

चार्टर्ड अकाउंटेंसी (सीए)(CA)

इस कोर्स की अवधि 3 से 5 साल है और इसके लिए सीए प्रवेश परीक्षा को पास करने की आवश्यकता होती है। इस कार्यक्रम में तीन स्तर फाउंडेशन, इंटरमीडिएट एवं फाइनल की परीक्षा होती है। अंतिम परीक्षा पास करने के बाद किसी को भी सार्वजनिक और निजी क्षेत्र में अच्छी नौकरी मिल सकती है या फिर आप सीए प्रैक्टिस शुरू कर सकते हैं।

बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन (बीएमएमसी)(Bachelor in journalism and Mass communication)

पत्रकारिता और जन संचार स्नातक, 3 साल का डिग्री कोर्स है। विभिन्न विश्वविद्यालयों ने इस पाठ्यक्रम को पत्रकारिता में बीए, पत्रकारिता में स्नातक, मास मीडिया में स्नातक जैसे विभिन्न नामों से जाना जाता है। इस कोर्स की डिग्री प्राप्त करने के बाद विभिन्न मीडिया हाउसेस ये अख़बार या टीवी समचार चैनल में नौकरी मिलती हैं।

बैचलर इन होटल मैनेजमेंट (बीएचएम)(B.H.M)

होटल उद्योग एक कैरियर के बनाने के लिए तेजी से उभरते उद्योगों में से एक है। होटल प्रबंधन उन लोगों के लिए है जो आतिथ्य क्षेत्र में रुचि रखते हैं। यह 4 साल का स्नातक कोर्स है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद कोई भी स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त कर सकता है या होटल उद्योग में नौकरी कर सकता है।

बीएससी फैशन डिजाइनिंग में(B.Sc.in fashion Designing)

फैशन डिजाइन में बीएससी 3 साल की स्नातक डिग्री प्रोग्राम है। इस कोर्स में परिधान डिजाइनिंग, गहने डिजाइन, फ़ुटवियर डिजाइनिंग आदि शामिल होते है। इस पाठ्यक्रम को पूरा करने के बाद मास्टर डिग्री प्राप्त कर सकते हैं या फैशन उद्योगों में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

कंपनी सचिव (सीएस)(CS)

कंपनी सचिव पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने के लिए किसी को भारतीय कंपनी सचिव (आईसीएसआई) में पंजीकरण करना आवश्यक होता है। पंजीकरण के बाद यह संस्थान, प्रशिक्षण और अध्ययन सामग्री प्रदान करता है। इस कोर्स के लिए प्रवेश पूरे साल खुला है और परीक्षा जून और दिसंबर में एक वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है। इस कोर्स को तीन चरणों में पूरा किया जाता है फाउंडेशन, एग्जीक्यूटिव और प्रोफेशनल। सीएस कोर्स पूरा करने के लिए इन सभी तीन चरणों को पास करना होता है । इस कोर्स को पास करने के बाद कॉर्पोरेट सेक्टर में नौकरी मिल सकती है।

बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (बीएमएस)(B.M.S)

बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, 3 साल का मैनेजमेंट में डिग्री कोर्स है। पाठ्यक्रम में छात्रों को बिज़नस मैनेजमेंट के बारे में सिखाया जाता है और इसमें एचआर, फाइनेंस, इंटरनेशनल बिज़नस जैसे मैनेजमेंट के विषयों को चुना जा सकता है। बीएमएस की परीक्षा पास करने के बाद छात्र मास्टर डिग्री में आगे के अध्ययन के लिए जा सकते हैं या सार्वजनिक और निजी क्षेत्र में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

डॉ पूजा, एमबीए, पीएचडी
पूर्व-फैकल्टी इंजीनियरिंग और प्रबंधन कॉलेज, विपणन और वित्त विशेषज्ञ

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Pin It on Pinterest

Share This